Top
Home » देश » पैंथर्स पार्टी के जम्मू बंद का आह्वान बेअसर

पैंथर्स पार्टी के जम्मू बंद का आह्वान बेअसर

👤 Veer Arjun | Updated on:7 Dec 2019 9:26 AM GMT

पैंथर्स पार्टी के जम्मू बंद का आह्वान बेअसर

Share Post

जम्मू़ । जम्मू कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी द्वारा शनिवार को जम्मू बंद के आह्वान का फिलहाल कोई दिखाई नहीं दे रहा है। जम्मू शहर तथा इसके आसपास के इलाकों में आम दिनों की तरह ही स्कूल, कालेज व अन्य निजी तथा सरकारी शिक्षण संस्थान खुले हुए हैं। दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान भी रोजाना की तरह ही अपने समय पर खुल गए। सड़कों पर सभी प्रकार के वाहनों की आवाजाही सुचारू रूप से जारी है। लोग रोजाना की तरहं की अपने कार्यालयों तथा अन्य कामों के लिए जा रहे हैं। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए जम्मू शहर के मुख्य बाजार परेड़ में एनडीआरएफ के जवान अपने वाहनों में मौजूद है। इनमें महिला एनडीआरएफ जवान भी शामिल हैं।

पैंथर्स पार्टी व अन्य 14 सामाजिक संगठनों तथा छात्र संघ ने इस बंद का समर्थन किया है। इसी बीच प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने भी मोबाइल इंटरनेट सेवा को बहाल करने की पैंथर्स पार्टी की मांग का समर्थन किया है। इसके अलावा बंद को समर्थन देने वालों में शिव सेना बाल ठाकरे के प्रधान मनीश साहनी, चेयरमैन जम्मू परिवर्तन विकास मंडल, आल जम्मू होटल लॉज एसोसिएशन इंद्रजीत खजूरिया, गुरु रविदास सभा, स्वर्णकार संघ, क्रांति दल, श्रीराम सेना, रेलवे टूरिस्ट टैक्सी यूनियन, राजेंद्र बाजार एसोसिएशन, मोती बाजार बिजनेसमैन एसोसिएशन, गांधीनगर रेजीडेंट एसोसिएशन, एमएएम कॉलेज स्टूडेंट यूनियन, जम्मू यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन, कॉमर्स कॉलेज, महिला कॉलेज गांधीनगर, परेड कालेज स्टूडेंट यूनियन, टूरिस्ट टैक्सी एसोसिएशन, स्वर्णकार सभा, रेलवे स्टेशन टैक्सी यूनियन शामिल हैं।

ये सभी राज्य में मोबाइल इंटरनेट बहाल न करने, जम्मू में और उसके आसपास "टोल प्लाजा" की स्थापना करने , न्यायिक अधिकारियों से पंजीकरण शक्तियां हस्तांतरित करना, नए वाहनों पर 9 प्रतिशत टोकन टैक्स लगाना और सब्जियों, दालों और अन्य आवश्यक वस्तुओं कीमतें बढ़ना जैसे मुद्दों के विरोध में जम्मू बंद में शामिल हैं।

गौरतलब है कि शुक्रवार को पैंर्थस पार्टी नेता हर्षदेव सिंह तथा कार्यकर्ता जम्मू बंद के लिए समर्थन जुटाने हेतु शहर में इश्तेहार बांटकर तथा नारेबाज़ी करने के साथ ही आटो पर स्पीकर लगाकर बंद की घोषणा कर रहे थे, जिसके चलते पुलिस ने हर्षदेव सिंह सहित सात कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया था।

Share it
Top