Top
Home » देश » भड़काऊ बयान देने वाले पर हो कार्रवाई, फिर चाहे कपिल ही क्यों न हो : गंभीर

भड़काऊ बयान देने वाले पर हो कार्रवाई, फिर चाहे कपिल ही क्यों न हो : गंभीर

👤 mukesh | Updated on:25 Feb 2020 12:28 PM GMT

भड़काऊ बयान देने वाले पर हो कार्रवाई, फिर चाहे कपिल ही क्यों न हो : गंभीर

Share Post

नई दिल्ली। नागारिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध और समर्थन को लेकर हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान भड़काऊ बयान देने वाले लोगों पर सांसद गौतम गंभीर ने कड़ा रुख अपनाया है। गंभीर ने कहा है कि इन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो और मैं उस कार्रवाई का समर्थन भी करुंगा। फिर चाहे वे कपिल मिश्रा हो या फिर कोई और पार्टी के नेता हो। गौतम गंभीर मौजूदा समय में भाजपा से पूर्वी दिल्ली के सांसद हैं। सीएए के समर्थन और विरोध में पूर्वी दिल्ली में भी सांप्रदायिक हिंसा हुई थी।

मंगलवार को गंभीर ने पूर्वी दिल्ली में हुई सांप्रादयिक हिंसा की घटनाओं के लेकर मीडिया से बातचीत में कहा कि जिन लोगों ने हिंसा भड़काने वाली बयानबाजी की है उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। फिर चाहे भाजपा नेता कपिल मिश्रा हो या फिर कोई अन्य हो। उन्होंने कहा कि अगर किसी भी दल का नेता कोई हिंसा फैलाने वाला भड़काउ बयान देता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए और मैं उस कार्रवाई से साथ खड़ा हूं।

दरअसल, गौतम गंभीर मंगलवार को जाफराबाद में सीएए को लेकर हुई हिंसक घटना में घालय डीसीपी अमित शर्मा का हालचाल जानने के लिए पटपड़गंज स्थित मैक्स हॉस्पिटल पहुंचे थे। उन्हें यहां सोमवार देर रात को भर्ती कराया गया था। डीसीपी शर्मा की अभी भी हालात गंभीर बनी हुई है। (एजेंसी हिस.)

Share it
Top