Top
Home » देश » जम्‍मू कश्मीर : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, हिज्बुल के दो आतंकी ढेर

जम्‍मू कश्मीर : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, हिज्बुल के दो आतंकी ढेर

👤 Veer Arjun | Updated on:30 May 2020 5:18 AM GMT

जम्‍मू कश्मीर : कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़, हिज्बुल के दो आतंकी ढेर

Share Post

श्रीनगर । जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। मुठभेड़ में मारे गए आतंकी हिज्बुल मुजाहिदीन के बताए जा रहे हैं, जिनकी शिनाख्त स्थापित करने की प्रक्रिया चल रही है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के इस जिले के वानपुरा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद इलाके की घेराबंदी की गई और तलाश अभियान चलाया गया। आतंकियों के ठिकाने से भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक मिले हैं। अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाई जिसके बाद जवाबी कार्रवाई की गई।

पुलवामा के बाद एक और बड़ी सफलता

शुरुआती जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों को इनपुट मिला था कि दोनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। अब अधिकारियों ने साफ किया है कि दोनों आतंकी हिज्बुल मुजाहिदीन के हैं। दोनों की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। इनपुट मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ संयुक्त सर्च ऑपरेशन चलाया था। सूत्रों के मुताबिक वामपोरा इलाके में कम से कम दो आतंकी छिपे हुए थे, जो किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। लेकिन उससे पहले ही सुरक्षाबलों ने उनका खात्मा कर दिया।

घरवालों के सरेंडर कहने पर भी नहीं किया समर्पण

इससे पहले सुरक्षाबल मुठभेड़स्थल पर आतंकियों के घरवालों को भी बुलाकर लाए थे। आतंकियों के घरवालों ने अपील की थी कि वे सेना के सामने खुद को सरेंडर कर दें। घरवालों के मनाने के बाद भी आतंकियों ने सरेंडर करने से मना कर दिया, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने उन्हें ढेर कर दिया। कश्मीर घाटी में पाकिस्तान लगातार अस्थिरता फैलाने की कोशिश कर रहा है। जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को पुलवामा जैसे आतंकी हमले की साजिश रची गई थी, जिसे सुरक्षाबलों ने नाकाम किया। अगर सुरक्षाबल सही वक्त पर अपने मिशन को अंजाम नहीं देते एक बार फिर पुलवामा अटैक दोहराया जा चुका होता।

मसूद अजहर का भतीजा रच रहा षड्यंत्र

लॉकडाउन और कोरोना संकट के दौरान भी घाटी में आतंकवादी घटनाएं कम नहीं हुई हैं। आतंकी सुरक्षाबलों पर हमला करने और घाटी को अशांत करने की लगातार योजना बना रहे हैं। गुरुवार को भी सुरक्षाबलों ने ऐसी ही एक आतंकी घटना को पुलवामा में नाकाम किया था। सूत्रों का दावा है कि इस हमले के पीछे कुख्यात ग्लोबल आतंकी मसूद अजहर के भतीजे मोहम्मद इस्माइल उर्फ फौलजी बाबा का भी नाम सामने आ रहा है। मोहम्मद इस्माइल एक इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस एक्सपर्ट है। आतंकी घटना में अब उसकी भूमिका की भी जांच की जा रही है।

 नेपाल में हुए भूस्खलन में अभी भी लापता हैं 19 लोग

नेपाल में हुए भूस्खलन में अभी भी लापता हैं 19 लोग

नई दिल्ली। पश्चिमी नेपाल में लगातार हो रही बारिश के कारण विभिन्न स्थानों में हुए भूस्खलन के कारण कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई है। साथ ही 19 लोग...

 कोरोना के बाद कजाक वायरस से दुनिया को एक और खतरा

कोरोना के बाद कजाक वायरस से दुनिया को एक और खतरा

नई दिल्ली। कजाकिस्तान के वायरस को लेकर दुनिया में एक नया डर उत्पन्न हो रहा है। चीनी दूतावास ने कहा है कि यह कोरोना से भी खतरनाक वायरस है, इससे अब तक...

 शिक्षा मंत्रियों की राय, पाकिस्तान में सितम्बर से फिर से खुलने चाहिए स्कूल

शिक्षा मंत्रियों की राय, पाकिस्तान में सितम्बर से फिर से खुलने चाहिए स्कूल

नई दिल्ली । पाकिस्तान के प्रांतीय शिक्षा मंत्रियों का कहना है कि सितम्बर में देश में स्कूल फिर से खुलने चाहिए। इसके लिए अब राष्ट्रीय समन्वय समिति...

 नेपाल में बरपने लगा बाढ़ का कहर

नेपाल में बरपने लगा बाढ़ का कहर

नई दिल्ली। नेपाल के सिंधुपालचौक जिले में बाढ़ आने से 2 लोगों की मौत हो गई है और 18 लोग लापता हो गए हैं। पुलिस ने गुरुवार को इसकी पुष्टि की है। बाढ़...

 भारत और यूरोपीय संघ के बीच 15 जुलाई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगा समिट

भारत और यूरोपीय संघ के बीच 15 जुलाई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होगा समिट

नई दिल्ली । भारत और यूरोपीय संघ के बीच 15 जुलाई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए समिट होगा। इस दौरान क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर चर्चा हो सकती...

Share it
Top