Top
Home » देश » बड़नगर सीएमओ के तीन ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, 40 बैंक खातों का पता चला

बड़नगर सीएमओ के तीन ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, 40 बैंक खातों का पता चला

👤 manish kumar | Updated on:15 Sep 2020 10:03 AM GMT

बड़नगर सीएमओ के तीन ठिकानों पर लोकायुक्त का छापा, 40 बैंक खातों का पता चला

Share Post

उज्जैन। बड़नगर नगर पालिका सीएमओ कुलदीप किंशूक के बड़नगर स्थित शासकीय आवास के साथ ही उज्जैन के शिवांश पैराडाइज कॉलोनी तथा माकड़ोन स्थित घर पर उज्जैन लोकायुक्त टीम ने मंगलवार सुबह एक साथ दबिश दी। बड़नगर स्थित शासकीय आवास पर सुबह 5:30 बजे लोकायुक्त निरीक्षक संतोष जामरा और उनकी टीम सीएमओ कुलदीप के घर पहुंची। उन्होंने ही घर का दरवाजा खोला। सीएमओ ने जब अधिकारियों से परिचय लिया तो उनके होश उड़ गए। कार्रवाई के दौरान बड़नगर स्थित आवास से लोकायुक्त को 40 बैंक खाते और 22 हजार रुपए नगद मिले हैं।

माकड़ोन में मिला खजाना

लोकायुक्त निरीक्षक राजेंद्र वर्मा के नेतृत्व में सीएमओ कुलदीप किंशूक के माकड़ोन स्थित पैतृक मकान पर कार्रवाई की गई। जहां पर सीएमओ के माता-पिता रहते हैं। लोकायुक्त को यहां से जांच के दौरान 400 ग्राम सोने के आभूषण 1 किलो चांदी के आभूषण और 4 लाख रुपए नगद बरामद हुए हैं। इसके अलावा दो दोपहिया वाहन भी मिले हैं। लोकायुक्त ने बताया कि सीएमओ का माकड़ोन में पैतृक निवास है। माकड़ोन में कार्रवाई के दौरान सामने आया कि सीएमओ की 21 बीघा जमीन तथा तीन मंजिला और दो मंजिला दो मकान भी हैं। इसके अलावा एक प्लॉट की भी जानकारी सामने आई है। लोकायुक्त को जानकारी मिली है कि हाल ही में सीएमओ ने शास्त्री नगर मे एक मकान भी बेचा है। कृषि भूमि, मकान और प्लाट की कीमत ही लाखों रुपए में जा रही है।

कार्यवाही में मिले नकदी और आभूषण

लोकायुक्त निरीक्षक राजेंद्र वर्मा ने बताया कि सीएमओ कुलदीप को नौकरी में आए 12 साल हो गए हैं। इस दौरान वह आलोट, तराना, माकड़ोन और बड़नगर में पदस्थ रहे हैं। प्रारंभिक जांच में 3 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति की जानकारी सामने आई है, जो कि 12 साल की नौकरी में मिलने वाली सैलरी से 1500 गुना अधिक है। छापे की कार्रवाई देर शाम तक चलने की संभावना है।

संयुक्त कार्रवाई के दौरान लोकायुक्त निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव आगर रोड स्थित सीएमओ के मकान पर पहुंचे थे । यहां पर सीएमओ कुलदीप का डुप्लेक्स मकान है। हालांकि उक्त मकान खाली बताया जा रहा है। लेकिन लोकायुक्त को जानकारी मिली है कि कुलदीप के उज्जैन में अलग-अलग बैंकों में 40 से अधिक बैंक खाते हैं। जिन की भी जांच की जाएगी इसके अलावा बैंक लॉकर भी बताई जा रहे हैं।

कार्रवाई के दौरान गुमसुम बैठा रहा सीएमओ

कुलदीप किंशूक माकड़ोन में 1500 रुपए प्रति महीने की नौकरी करते हुए पंचायत सचिव का काम करते थे। 2009 में माकड़ोन नगर पंचायत बनी तो कुलदीप नगर पंचायत में शामिल हो गया। यहां पर वह प्रभारी सीएमओ बना। इसके बाद से वह लगातार सीएमओ के पद पर पदस्थ रहा। कार्रवाई के दौरान सीएमओ किंशूक गुमसुम बैठा दिखाई दिया।(हि.स.)

Share it
Top