Top
Home » देश » दिल्ली में वायु प्रदूषण से निपटने शुरू हुआ रेडलाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान

दिल्ली में वायु प्रदूषण से निपटने शुरू हुआ 'रेडलाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान

👤 Veer Arjun | Updated on:15 Oct 2020 9:22 AM GMT

दिल्ली में वायु प्रदूषण से निपटने शुरू हुआ रेडलाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान

Share Post

नई दिल्ली । दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को 'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान की शुरुआत की है। केजरीवाल ने लोगों से अपील की है कि अब से सभी लोग रेड लाइट पर अपनी गाड़ी ऑफ कर देंगे।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने पत्रकार वार्ता में कहा कि हम सब लोग आज एक संकल्प लेंगे कि रेड लाइट पर हम अपनी गाड़ी ऑफ करेंगे। दिल्ली में एक करोड़ गाड़िया रजिस्टर्ड हैं, अगर 10 लाख वाहन भी रेड लाइट पर अपनी गाड़ी बंद करना शुरू कर दें तो विशेषज्ञों ने मुझे गणना करके दी है कि साल में पीएम 10 प्रदूषण 1.5 टन कम हो जाएगा और पीएम 2.5 प्रदूषण 0.4 टन कम हो जाएगा।

केजरीवाल ने बताया कि अगर सभी लोग रेड लाइट पर अपनी गाड़ी बंद करना शुरू कर दें, तो सालाना सात हजार रुपये की बचत हो सकती है।

उन्होंने कहा कि एक गाड़ी रोजाना औसतन 15-20 मिनट रेड लाइट पर बिताती है, उस दौरान उसमें तकरीबन 200 एमएल ईंधन की खपत होती है। अगर लोग रेड लाइट होने पर गाड़ी बंद करना शुरू कर दें तो प्रति व्यक्ति औसतन 7000 रुपये सालाना की बचत होगी।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण से निपटने के लिए जनरेटरों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है। दिल्ली समेत नोएडा, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गुरुग्राम में जरूरी व आपात सेवाओं को छोड़कर डीजल जनरेटरों के इस्तेमाल पर पूर्ण पाबंदी रहेगी। हाइवे और मेट्रो जैसी बड़ी परियोजनाओं में निर्माण कार्य के लिए पहले भी राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मंजूरी लेनी होगी।

Share it
Top