Top
Home » राजस्थान » देश के औद्योगिक पेनोरमा मेंराजस्थान लीडर स्टेट के रुप में उभरा-शेखावत

देश के औद्योगिक पेनोरमा मेंराजस्थान लीडर स्टेट के रुप में उभरा-शेखावत

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:20 Dec 2017 3:57 PM GMT
Share Post

वीर अर्जुन संवाददाता

जयपुर। उद्योग व राजकीय उपक्रम मंत्री श्री राजपाल सिंह शेखावत ने कहा कि देश के औद्योगिक पेनोरमा में औद्योगिक निवेष के लिए राजस्थान लीडर स्टेट के रुप में आगे आया है। उन्होंने कहा कि देष में सबसे बड़े औद्योगिक भूमि बैंक स्थापित करने वाले प्रदेषों में से राजस्थान एक है।
उद्योग मंत्री श्री शेखावत आज एक निजी होटल में उद्योग विभाग और सीआईआई के संयुक्त तत्वावधान में इज ऑफ डूइंग बिजनस पर आयोजित एक दिवसीय कार्यषाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इज ऑफ डूइंग बिजनस के क्षेत्र में गत वर्ष राजस्थान लीडर प्रदेषों की श्रेणी में रहा है जबकि इससे देश के शीर्ष तीन राज्यों में आ जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य में औद्योगिक निवेश को आसान बनाने और प्रगतिषील श्रम सुधारों के चलते राजस्थान अग्रणी प्रदेष हो गया है। श्री षेखावत ने कहा कि जीएसटी के बाद अब औद्योगिक निवेष रेसनलाइज हो गया है। उन्होंने कहा कि वल्र्ड बैंक की ताजा रेंकिंग में हमारा देष इज ऑफ डूइंग में 130 वे स्थान से 100 वे स्थान पर आ गया है। उन्होंने कहा कि यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में सिंगल विण्डों सिस्टम में अच्छा काम हो रहा है। उन्होंने उद्योगपतियों से आग्रह किया कि सिंगल विण्डों सिस्टम व औद्योगिक विकास के संबंध में व्यावहारिक सुझाव देंगे तो उन पर सरकार द्वारा गंभीरता से विचार किया जाएगा। एसीएस उद्योग व सीएमडी रीको श्री राजीव स्वरुप ने इज ऑफ डूइंग बिजनस के माध्यम से प्रदेष में निवेषोन्मुखी माहौल बनाया गया है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष केन्द्र सरकार ने सरलीकरण की दिषा में 372 पॉइंट का इज ऑफ डूइंग सिस्टम तैयार कर क्रियान्विति हेतु उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने बताया कि राजस्थान द्वारा सभी 372 बिन्दुओं पर कार्यवाही करते हुए ऑनलाईन सुविधा आरंभ करते हुए केन्द्र सरकार का सबमिट कर दिया है। श्री राजीव स्वरुप ने बताया कि प्रक्रिया के सरलीकरण और ऑनलाइन व्यवस्था से अब राजस्थान में घर बैठे काम करवाया जा सकता है। उन्होंने उद्योगपतियों की समस्याओं का भी समाधान किया। उद्योग आयुक्त श्री कुंजी लाल मीणा ने प्रजेटेंषन के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी कि राज्य में 15 विभागों की 88 सेवाओं को ऑनलाईन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि इज ऑफ डूइंग पोर्टल पर लागिन कर सरकारी विभागों से संबंधित कार्य ऑनलाईन करवाए जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि इस पोर्टल पर डिजिटल लॉकर सुविधा भी उपलब्ध है जिसमें आवष्यक दस्तावेज रखने के साथ ही आवेदन के समय आवष्यक दस्तावेज के स्वयं ही संलग्न होने की सुविधा है। नगरीय विकास विभाग के एसीएस श्री मुकेष शर्मा ने विभाग द्वारा पोर्टल पर उपलब्ध सेवाओं की जानकारी दी। कार्यषाला में एसीएस रेवेन्यू श्री खेमराज, प्रमुख सचिव उर्जा श्री संजय मल्होत्रा, श्रम सचिव श्री टी रविकांत एवं आयुक्त बीआईपी टीना सोनी ने उद्योगपतियों की शंकाओं का समाधान किया व उपलब्ध सेवाओं की जानकारी दी। सीआईआई राजस्थान के अध्यक्ष श्री बसंत खेतान ने स्वागत करते हुए कार्यषाला के उद््देष्यों की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार और उद्योगपतियों व निवेषकों के बीच सीधा संवाद स्थापित करने के लिए कार्यषाला का आयोजन किया गया है। सीआईआई के निदेषक श्री नितिन गुप्ता ने स्वागत किया और सीआईआई राजस्थान के पूर्व अध्यक्ष दिलीप बैद्य ने सरलीकरण की जानकारी देते हुए आभार व्यक्त किया।

Share it
Top