Top
Home » खेल खिलाड़ी » आईएलएस-7 : पहली बार प्लेआफ में पहुंचने के लिए हैदराबाद को एटीकेएमबी पर हर हाल में चाहिए जीत

आईएलएस-7 : पहली बार प्लेआफ में पहुंचने के लिए हैदराबाद को एटीकेएमबी पर हर हाल में चाहिए जीत

👤 mukesh | Updated on:22 Feb 2021 8:22 AM GMT

आईएलएस-7 : पहली बार प्लेआफ में पहुंचने के लिए हैदराबाद को एटीकेएमबी पर हर हाल में चाहिए जीत

Share Post

गोवा। हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन में निजाम्स नाम से मशहूर हैदराबाद एफसी एक सरप्राइज पैकेज के रूप में उभरा है। अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर यह टीम अभी अंक तालिका में तीसरे स्थान पर है और अब वह सोमवार को तिलक मैदान स्टेडियम में एटीके मोहन बागान को हराकर पहली बार प्लेआफ के लिए क्वालीफाई करन चाहेगा।

आईएसएल में अपना दूसरा सीजन खेल रही हैदराबाद की टीम एक तरफ जहां शानदार फार्म में है वही एटीकेएमबी भी बेहतरीन फार्म की बदौलत न सिर्फ टेबल टापर बने हुए हैं बल्कि पहले ही प्लेआफ के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं। इस टीम ने लगातार पांच जीत के साथ मुम्बई सिटी एफसी को टाप से हटाया है। इस टीम ने बीते पांच मैचों में 13 गोल किए हैं और सिर्फ पांच गोल खाए हैं।

प्लेआफ का टिकट कटाने के बावजूद एटीकेएमबी को जीत के सख्त दरकार है क्योंकि निजाम्स पर जीत उसे लीग विनर्स शील्ड और एएफसी चैम्पियंस लीग स्पाट पक्की करा देगी। हैदराबाद के कोच मैनुएल मारक्वेज ने कहा है कि एटीकेएमबी जैसी मजबूत टीम का टूर्नामेंट के इस स्तर पर सामना करना उनके टीम के लिए रोमांचक चुनौती होगा।

मारक्वेज ने कहा, --हम लीग की सबसे मजबूत टीम के खिलाफ खेलेंगे। अभी एटीकेएमबी लीग में सबसे अच्छे फार्म में है। यह काफी काम्पैक्ट टीम है और इसके पास एंटोनियो हाबास की शैली में खेलने वाले कई अच्छे खिलाड़ी हैं।–

निजाम्स का सामना न सिर्फ सीजन की सबसे मजबूत डिफेंस वाली टीम से होना है बल्कि उसके सामने इस टीम के सबसे करिश्माई खिलाड़ी राय कृष्णा को भी रोकने की चुनौती होगीजो अब तक 18 गोल का योगदान दे चुके हैं और बीते छह मैचो में लगातार गोल किए हैं।

मारक्वेज ने कहा,-- मेरे लिए वह लीग के सबसे अच्छे फारवर्ड हैं। वह कई तरह से स्कोर कर सकते हैं। वह लम्बे नहीं हैं लेकिन वह चालाक हैं। वह तीव्र हैं और जानते हैं कि उन्हें कब दौड़ लगानी है। वह एक कम्प्लीट सेंटर फारवर्ड हैं।–

इस मैच का दूसरा हाफ निर्णायक साबित होगा क्योंकि दोनों ही टीमों ने अपने सबसे अधिक गोल ब्रेक के बाद किए हैं। मुम्बई ने जहां अब तक अपने कुल 26 में से 21 गोल दूसरे हाफ में किए हैं जबकि हैदराबाद ने 25 में से 20 गोल ब्रेक के बाद किए हैं। बंगाल के कोच हबास के साथ-साथ कई अन्य कोचों ने इस सीजन में हैदराबाद के प्रदर्शन को सराहा है।

हबास ने कहा, --यह सीजन निजाम्स के लिए अच्छा रहा है। हमें इस टीम के खिलाफ आत्मविश्वास बनाए रखना होगा। अटैक और डिफेंस के बीच यह टीम संतुलित है। इस टीम ने इस सीजन में सबको चौंकाया है।

Share it
Top