Home » उत्तराखंड » वैश्विक आर्थिक गतिविधियों का केन्द्र बना भारत : निशंक

वैश्विक आर्थिक गतिविधियों का केन्द्र बना भारत : निशंक

👤 Veer Arjun Desk 4 | Updated on:2018-08-07 16:46:13.0
Share Post

वीर अर्जुन संवाददाता

देहरादून/नई दिल्ली। हरिद्वार लोकसभा से सासंद व सरकारी आष्वासन संसदीय समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड डॉ0 रमेष पोखरियाल निषंक ने लोक सभा में वित्त विधेयक संबंधी अनुदान के अनुपूरक मांगों पर चर्चा करते हुए कहा कि फ्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सुशासन गरीबी उन्मूलन सामाजिक आर्थिक परिवर्तन रोजगार सृजन का नया अध्याय लिखने की दिषा में भारत में यह बजट महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि आज विश्व की आर्थिक शक्तियों की तुलना में एक देदीप्यमान सितारे के रुप में उभरा है।

फ्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबका साथ सबका विकास के मूल मंत्र को लेकर समाज के अंतिम छोर के व्यक्ति तक पहुंचने का जो फ्रयास किया है आज पूरा विश्व उसकी सराहना करता है। उन्होंने आगे कहा कि आज हम विश्व की सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था है। जहां हमारी सकल घरेलू उत्पाद दर 7.2 पतिषत है आर्थिक सुधारों के चलते हमने चीन को पीछे छोड़ दिया है मुद्रास्फीति की दर को 4.9 पतिषत पर नियंत्रित कर हमने महंगाई रोकने में अभूतपूर्व सफलता पाई है उन्होंने इस बात पर कि विदेशी मुद्रा पोस्ट 405 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। हार्वर्ड विश्वविद्यालय के अंतरराष्ट्रीय विकास केंद्र की रिपोर्ट को उद्धृत करते हुए कहा कि आने वाला दशक भारतीय अर्थव्यवस्था भारतीय अर्थव्यवस्था का लोहा मानेगा उन्होंने कहा कि भारत की उत्पादन क्षमता में उम्मीद से कहीं अधिक सुधार देखने को मिला है डॉक्टर निशंक ने बताया कि आज हम विश्व में सर्वाधिक पसंद वाला निवेश गंतव्य के रूप में जाने जाते हैं हमारा निवेश 62.3 बिलियन डाउनलोड पर अमेरिका और चीन से कहीं आगे है। उन्होंने कहा कि यह सुखद आश्चर्य से कम नहीं कि विदेशी एजेंसियों ने भारत को इस ऑफ डूइंग बिजनेस में 100 स्थान दिया है डॉक्टर निशंक ने कहा आर्थिक समावेशन के तहत सरकार ने 32 करोड़ से अधिक लोगों के खाते खोले जिसमें 80000 करोड़ से अधिक की राशि जमा हुई डॉक्टर निषंक ने यह भी बताया कि हमारी मां बहनों के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए और उन्हें सहूलियत देने के लिए फ्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश के गरीब परिवारों को उज्ज्वला योजना के तहत 5 करोड़ 65 लाख गरीब लोगों को गैस उपलब्ध कराएं नियंत्रण में सहायता मिलती है बल्कि हमारे देश की गरीब महिलाओं को आंखों की व्याधियों से बचा जा सकता है राष्ट्रीय आवासीय योजना की बात करते हुए किशन ने कहा कि वर्ष 2022 तक हर व्यक्ति को देने का संकल्प लिया गया है यह घर अंतरिक्ष टेक्नोलॉजी और सूचना फ्रौद्योगिकी के जरिए निर्माण फ्रािढया पर निगरानी रखेंगे किसने कहा डॉक्टर निषंक ने कहा के फ्रधानमंत्री कौशल विकास की योजना के तहत देश में 100 अंतरराष्ट्रीय केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं देश के फ्रति 100 पिछड़े ब्लॉकों पर विशेष ध्यान देते हुए उच्च शैक्षिक सुविधाएं देने के फ्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कौशल विकास मंत्रालय में इसके लिए 3400 करोड़ रूप्ए आवंटित किए गए हैं।

Share it
Top