Top
Home » दुनिया » पाकिस्तान में जलाए गए श्रीलंकाई दोस्त को सहकर्मी ने की थी बचाने की कोशिश

पाकिस्तान में जलाए गए श्रीलंकाई दोस्त को सहकर्मी ने की थी बचाने की कोशिश

👤 Veer Arjun | Updated on:6 Dec 2021 9:17 AM GMT

पाकिस्तान में जलाए गए श्रीलंकाई दोस्त को सहकर्मी ने की थी बचाने की कोशिश

Share Post

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के सियालकोट में शुक्रवार को श्रीलंकाई नागरिक की पीट-पीटकर हत्या करने के बाद जलाए जाने की घटना का शनिवार को एक वीडियो सामने आया है, जिसमें उक्त युवक को उसका एक सहकर्मी बचाने के लिए भीड़ से जूझता दिख रहा है।

पंजाब के आईजीपी राव सरदार अली खान ने शुरुआती रिपोर्ट में कहा है कि श्रीलंकाई नागरिक दियावदाना वजीराबाद रोड स्थित राजको इंडस्ट्रीज में मैनेजर थे। उन्होंने कर्मचारियों से विदेशी प्रतिनिधिमंडल के आने से पहले फैक्ट्री की सभी मशीनों से स्टीकर्स हटा लेने को कहा था। इस पर फैक्ट्री मजदूरों ने उस पर ईशनिंदा का आरोप लगाते हुए फैक्ट्री परिसर में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। फैक्ट्री मजदूरों के साथ बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी इस प्रदर्शन में शामिल हो गए। देखते ही देखते भीड़ में सैकड़ों शामिल लोग दियावदाना पर हमलावर हो गए।

लिचिंग से पहले के वीडियो में फैक्ट्री मैनेजर श्रीलंकाई नागरिक पर भीड़ को हमला करते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में भीड़ के बीच नागरिक का एक सहकर्मी दोस्त उसे बचाने की कोशिश करता हुआ दिखाई दे रहा है। यह सहकर्मी फैक्ट्री की छत पर उन्हें भीड़ से बचाने की कोशिश कर रहा है और आसपास दर्जनों लोग उन्हें मारने की कोशिश कर रहे हैं। श्रीलंकाई 49 वर्षीय व्यक्ति को ईशनिंदा के आरोप में भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या करने के बाद उसके शव को आग के हवाले कर दिया। इस मामले में कई लोगों की गिरफ्तारी हुई है।

वीडियो में सुना जा सकता है कि जिसमें लोग कह रहे हैं कि आज यह बचकर भाग नहीं पाएगा। सहकर्मी ने दियावदाना को बचाने का भरसक प्रयास किया लेकिन आखिर वह नाकाम रहे। भीड़ उन्हें घसीटते हुए सड़क पर ले गई और पत्थरों, लोहे की रॉड और लातों से पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी, जिसके बाद भीड़ ने शव में आग लगा दी। श्रीलंकाई नागरिक प्रियंता कुमारा दियावदाना 10 सालों से राजको इंडस्ट्रीज में काम करता था। इस हत्या की पाकिस्तान और श्रीलंका सरकार और मानवाधिकार संगठनों ने कड़ी निंदा की है। एजेंसी

Share it
Top