Top
Home » आपके पत्र » अब लगी न आंच खुद को

अब लगी न आंच खुद को

👤 | Updated on:7 Jun 2010 3:42 PM GMT
Share Post

अमेरिका के टाइम्स स्कवेयर में पिछले दिनों एक भयानक आतंकवादी हादसा होते-होते बच गया। विस्फोटों से लदी एक कार को समय रहते देख लिया गया और सुरक्षा बलों के जवानों ने उनमें रखे विस्फोटकों को फ्यूज कर दिया जिससे बड़ी धन हानि और जन हानि होने से बच गई। मामले की तहकीकात करते-करते मात्र दो-तीन दिन के अन्दर ही पुलिस ने एक आतंकवादी को दबोच लिया। पूछताछ करने पर वह व्यक्ति एक पाकिस्तानी निकला। अब अमेरिका के कान खड़े हो गए। उसने पाकिस्तान को उपदेश देने आरम्भ कर दिए हैं कि या तो इन आतंकवादियों पर नकेल कसो वरना अंजाम अच्छा नहीं होगा। ठीक कहा है कि किसी ने कि जाके पैर पड़ी न बिवाई सो क्या जाने पीड़ पराई। अब जब खुद की गर्दन पर पैर रखे जाने पर एहसास हुआ है तो अमेरिका को पाक के पेंच कसने की सुध आई है। हालांकि अमेरिका यह अच्छी तरह से जानता है कि पाक मानने वाला नहीं है। अब तो यहां तक खबरें आ रही हैं कि पाक को यह पता है कि ओसामा बिन लादेन कहां छिपा है लेकिन वह जानबूझकर नहीं बता रहा। अब इस मामले में सच्चाई कहां तक  है यह तो वही जाने पर यदि ऐसा है तो अमेरिका को निकट भविष्य में लोहे के चने चबाने के लिए तैयार रहना चाहिए। -इन्द्र सिंह धिगान, 3 रेडियो कॉलोनी, किंग्जवे कैम्प, दिल्ली।

Share it
Top